#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर   कबीर परमेश्वर चारों युगों में अपने सत्य ज्ञान का प्रचार करने आते हैं।
सतगुरु पुरुष कबीर हैं, चारों युग प्रवान।
झूठे गुरुवा मर गए, हो गए भूत मसान।।
Saint Rampal Ji
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/UbUHe7mMXv

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कबीर परमेश्वर चारों युगों में अपने सत्य ज्ञान का प्रचार करने आते हैं। सतगुरु पुरुष कबीर हैं, चारों युग प्रवान। झूठे गुरुवा मर गए, हो गए भूत मसान।। Saint Rampal Ji Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/UbUHe7mMXv

As AI is more widely used for predictive trading signals, firms face potential alpha decay—lost alpha from crowded trades. Learn how to use parameters and algos to mitigate that risk.https://t.co/I7snzul2F4  #exegy #AI #algotrading https://t.co/c0SpwzIrM2

As AI is more widely used for predictive trading signals, firms face potential alpha decay—lost alpha from crowded trades. Learn how to use parameters and algos to mitigate that risk.https://t.co/I7snzul2F4 #exegy #AI #algotrading https://t.co/c0SpwzIrM2

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर  यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25 जिस समय पूर्ण परमात्मा प्रकट होता है उस समय सर्व ऋषि व सन्त जन शास्त्र विधि त्याग कर मनमाना आचरण अर्थात् पूजा कर रहे होते हैं। तब अपने तत्वज्ञान का संदेशवाहक बन कर स्वयं ही कबीर प्रभु ही आता है। https://t.co/XC1e59kQh9

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25 जिस समय पूर्ण परमात्मा प्रकट होता है उस समय सर्व ऋषि व सन्त जन शास्त्र विधि त्याग कर मनमाना आचरण अर्थात् पूजा कर रहे होते हैं। तब अपने तत्वज्ञान का संदेशवाहक बन कर स्वयं ही कबीर प्रभु ही आता है। https://t.co/XC1e59kQh9

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर *सतगुरु रामपाल जी महाराज जी* प्रमाणित करके बताते हैं :-
कबीर परमात्मा चारों युगों में आते हैं
यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm se https://t.co/jnxdbzDkzg

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर *सतगुरु रामपाल जी महाराज जी* प्रमाणित करके बताते हैं :- कबीर परमात्मा चारों युगों में आते हैं यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25 Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm se https://t.co/jnxdbzDkzg

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कबीर परमात्मा हर युग में आते हैं
ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 18
कविर्देव शिशु रूप धारण कर लेता है। लीला करता हुआ बड़ा होता है। कविताओं द्वारा तत्वज्ञान वर्णन करने के कारण कवि की पदवी प्राप्त करता है अर्थात् उसे कवि कहने लग जाते हैं,। https://t.co/WniM2iHirv

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कबीर परमात्मा हर युग में आते हैं ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 18 कविर्देव शिशु रूप धारण कर लेता है। लीला करता हुआ बड़ा होता है। कविताओं द्वारा तत्वज्ञान वर्णन करने के कारण कवि की पदवी प्राप्त करता है अर्थात् उसे कवि कहने लग जाते हैं,। https://t.co/WniM2iHirv

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 17 
विलक्षण मनुष्य के बच्चे के रूप में प्रकट होकर पूर्ण परमात्मा कविर्देव अपने वास्तविक ज्ञानको अपनी कविर्गिभिः अर्थात् कबीर बाणी द्वारा पुण्यात्मा अनुयाइयों को कवि रूप में कविताओं, लोकोक्तियों के द्वारा वर्णन करता है। https://t.co/LYjLKM3szG

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 17 विलक्षण मनुष्य के बच्चे के रूप में प्रकट होकर पूर्ण परमात्मा कविर्देव अपने वास्तविक ज्ञानको अपनी कविर्गिभिः अर्थात् कबीर बाणी द्वारा पुण्यात्मा अनुयाइयों को कवि रूप में कविताओं, लोकोक्तियों के द्वारा वर्णन करता है। https://t.co/LYjLKM3szG

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 17
शिशुम् जज्ञानम् हर्य तम् मृजन्ति शुम्भन्ति वह्निमरूतः गणेन।
कविर्गीर्भि काव्येना कविर् सन्त् सोमः पवित्रम् अत्येति रेभन्।।
Saint Rampal Ji
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/zhkrAguGkb

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 17 शिशुम् जज्ञानम् हर्य तम् मृजन्ति शुम्भन्ति वह्निमरूतः गणेन। कविर्गीर्भि काव्येना कविर् सन्त् सोमः पवित्रम् अत्येति रेभन्।। Saint Rampal Ji Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/zhkrAguGkb

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 1 मंत्र 9
अभी इमं अध्न्या उत श्रीणन्ति धेनवः शिशुम्सोममिन्द्राय पातवे9
पूर्ण परमात्मा अमर पुरुष जब लीला करता हुआ बालक रूप धारण करके स्वयं प्रकट होता है उस समय कंवारी गाय अपने आप दूध देती है जिससे उस पूर्ण प्रभु की परवरिश होती है https://t.co/Dmfj5lzSfb

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 1 मंत्र 9 अभी इमं अध्न्या उत श्रीणन्ति धेनवः शिशुम्सोममिन्द्राय पातवे9 पूर्ण परमात्मा अमर पुरुष जब लीला करता हुआ बालक रूप धारण करके स्वयं प्रकट होता है उस समय कंवारी गाय अपने आप दूध देती है जिससे उस पूर्ण प्रभु की परवरिश होती है https://t.co/Dmfj5lzSfb

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर सतयुग में परमेश्वर कविर्देव जी जो सतसुकृत नाम से आए थे उस समय के ऋषियों व साधकों को वास्तविक ज्ञान समझाया करते थे। परन्तु ऋषियों ने स्वीकार नहीं किया। सतसुकृत जी के स्थान पर परमेश्वर को ‘‘वामदेव‘‘ कहने लगे।
Saint Rampal Ji https://t.co/tiDeiE1k4L

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर सतयुग में परमेश्वर कविर्देव जी जो सतसुकृत नाम से आए थे उस समय के ऋषियों व साधकों को वास्तविक ज्ञान समझाया करते थे। परन्तु ऋषियों ने स्वीकार नहीं किया। सतसुकृत जी के स्थान पर परमेश्वर को ‘‘वामदेव‘‘ कहने लगे। Saint Rampal Ji https://t.co/tiDeiE1k4L

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर *सतगुरु रामपाल जी महाराज जी* प्रमाणित करके बताते हैं :-
कबीर परमात्मा चारों युगों में आते हैं
यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm se https://t.co/mLJGkHO1Xy

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर *सतगुरु रामपाल जी महाराज जी* प्रमाणित करके बताते हैं :- कबीर परमात्मा चारों युगों में आते हैं यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25 Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm se https://t.co/mLJGkHO1Xy

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर  यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25 जिस समय पूर्ण परमात्मा प्रकट होता है उस समय सर्व ऋषि व सन्त जन शास्त्र विधि त्याग कर मनमाना आचरण अर्थात् पूजा कर रहे होते हैं। तब अपने तत्वज्ञान का संदेशवाहक बन कर स्वयं ही कबीर प्रभु ही आता है। https://t.co/BnDzAUeSQA

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर यजुर्वेद के अध्याय नं. 29 के श्लोक नं. 25 जिस समय पूर्ण परमात्मा प्रकट होता है उस समय सर्व ऋषि व सन्त जन शास्त्र विधि त्याग कर मनमाना आचरण अर्थात् पूजा कर रहे होते हैं। तब अपने तत्वज्ञान का संदेशवाहक बन कर स्वयं ही कबीर प्रभु ही आता है। https://t.co/BnDzAUeSQA

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर   कबीर परमेश्वर चारों युगों में अपने सत्य ज्ञान का प्रचार करने आते हैं।
सतगुरु पुरुष कबीर हैं, चारों युग प्रवान।
झूठे गुरुवा मर गए, हो गए भूत मसान।।
Saint Rampal Ji
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/hhv6OP1ziq

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कबीर परमेश्वर चारों युगों में अपने सत्य ज्ञान का प्रचार करने आते हैं। सतगुरु पुरुष कबीर हैं, चारों युग प्रवान। झूठे गुरुवा मर गए, हो गए भूत मसान।। Saint Rampal Ji Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/hhv6OP1ziq

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर   पूर्ण परमात्मा कविर्देव (कबीर परमेश्वर) वेदों के ज्ञान से भी पूर्व सतलोक में विद्यमान थे तथा अपना वास्तविक ज्ञान (तत्वज्ञान) देने के लिए चारों युगों में भी स्वयं प्रकट हुए हैं। 
Saint Rampal Ji
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 https://t.co/R65J8VFW2P

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर पूर्ण परमात्मा कविर्देव (कबीर परमेश्वर) वेदों के ज्ञान से भी पूर्व सतलोक में विद्यमान थे तथा अपना वास्तविक ज्ञान (तत्वज्ञान) देने के लिए चारों युगों में भी स्वयं प्रकट हुए हैं। Saint Rampal Ji Must watch sadhana TV per ratri 7 30 https://t.co/R65J8VFW2P

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर  सतयुग में सतसुकृत नाम से, त्रेतायुग में मुनिन्द्र नाम से, द्वापर युग में करूणामय नाम से तथा कलयुग में वास्तविक कविर्देव (कबीर प्रभु) नाम से प्रकट हुए हैं।
Saint Rampal Ji
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/OFglmCixh0

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर सतयुग में सतसुकृत नाम से, त्रेतायुग में मुनिन्द्र नाम से, द्वापर युग में करूणामय नाम से तथा कलयुग में वास्तविक कविर्देव (कबीर प्रभु) नाम से प्रकट हुए हैं। Saint Rampal Ji Must watch sadhana TV per ratri 7 30 pm https://t.co/OFglmCixh0

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर  कबीर परमात्मा अन्य रूप धारण करके कभी भी प्रकट होकर अपनी लीला करके अन्तर्ध्यान हो जाते हैं। उस समय लीला करने आए परमेश्वर को प्रभु चाहने वाले श्रद्धालु नहीं पहचान पाते, क्योंकि सर्व महर्षियों व संत कहलाने वालों ने प्रभु को निराकार बताया है। https://t.co/yRknHR2J7u

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कबीर परमात्मा अन्य रूप धारण करके कभी भी प्रकट होकर अपनी लीला करके अन्तर्ध्यान हो जाते हैं। उस समय लीला करने आए परमेश्वर को प्रभु चाहने वाले श्रद्धालु नहीं पहचान पाते, क्योंकि सर्व महर्षियों व संत कहलाने वालों ने प्रभु को निराकार बताया है। https://t.co/yRknHR2J7u

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर  परमेश्वर का शरीर नाड़ियों के योग से बना पांच तत्व का नहीं है। एक नूर तत्व से बना है। पूर्ण परमात्मा जब चाहे यहाँ प्रकट हो जाते हैं वे कभी मां से जन्म नहीं लेते क्योंकि वे सर्व के उत्पत्ति करता है
Saint Rampal Ji
Must watch sadhana TV per ratri 7 30 https://t.co/QkPkYeOaXA

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर परमेश्वर का शरीर नाड़ियों के योग से बना पांच तत्व का नहीं है। एक नूर तत्व से बना है। पूर्ण परमात्मा जब चाहे यहाँ प्रकट हो जाते हैं वे कभी मां से जन्म नहीं लेते क्योंकि वे सर्व के उत्पत्ति करता है Saint Rampal Ji Must watch sadhana TV per ratri 7 30 https://t.co/QkPkYeOaXA

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कबीर परमेश्वर ने सुदर्शन सुपच वाल्मीकि के रूप में शंख बजाया और पांडवों का यज्ञ संपन्न किया।
गरीबदास जी महाराज की वाणी में इसका प्रमाण है
"गरीब सुपच रुप धरि आईया, सतगुरु पुरुष कबीर, तीन लोक की मेदनी, सुर नर मुनि जन भीर" https://t.co/DerFDZuRtX

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कबीर परमेश्वर ने सुदर्शन सुपच वाल्मीकि के रूप में शंख बजाया और पांडवों का यज्ञ संपन्न किया। गरीबदास जी महाराज की वाणी में इसका प्रमाण है "गरीब सुपच रुप धरि आईया, सतगुरु पुरुष कबीर, तीन लोक की मेदनी, सुर नर मुनि जन भीर" https://t.co/DerFDZuRtX

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर द्वापर युग में कबीर परमेश्वर की दया से पांडवों का अश्वमेध यज्ञ संपन्न हुआ।
पांडवों की अश्वमेघ यज्ञ में अनेक ऋषि, महर्षि, मंडलेश्वर  उपस्थित थे यहां तक कि भगवान कृष्ण भी उपस्थित थे फिर भी उनका शंख नहीं बजा। https://t.co/fvnv65Tcrf

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर द्वापर युग में कबीर परमेश्वर की दया से पांडवों का अश्वमेध यज्ञ संपन्न हुआ। पांडवों की अश्वमेघ यज्ञ में अनेक ऋषि, महर्षि, मंडलेश्वर  उपस्थित थे यहां तक कि भगवान कृष्ण भी उपस्थित थे फिर भी उनका शंख नहीं बजा। https://t.co/fvnv65Tcrf

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर परमेश्वर कबीर जी त्रेतायुग में ऋषि मुनीन्द्र जी के रूप में लीला करने आए तब हनुमान जी से मिले। तथा सतलोक के बारे में बताया हनुमानजी को विश्वास हुआ कि ये परमेश्वर हैं। सत्यलोक सुख का स्थान है। परमेश्वर मुनीन्द्र जी से दीक्षा ली।  मुक्ति के अधिकारी हुए। https://t.co/Ej0wrsMgSS

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर परमेश्वर कबीर जी त्रेतायुग में ऋषि मुनीन्द्र जी के रूप में लीला करने आए तब हनुमान जी से मिले। तथा सतलोक के बारे में बताया हनुमानजी को विश्वास हुआ कि ये परमेश्वर हैं। सत्यलोक सुख का स्थान है। परमेश्वर मुनीन्द्र जी से दीक्षा ली। मुक्ति के अधिकारी हुए। https://t.co/Ej0wrsMgSS

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर  कलयुग में कबीर परमेश्वर अपने वास्तविक नाम कबीर रूप में काशी नगरी में लहरतारा तालाब में कमल के पुष्प पर अवतरित हुए।
कलयुग में निसंतान दंपति नीरू और नीमा ने उनका पालन पोषण किया। https://t.co/jDF9RsHUm6

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर कलयुग में कबीर परमेश्वर अपने वास्तविक नाम कबीर रूप में काशी नगरी में लहरतारा तालाब में कमल के पुष्प पर अवतरित हुए। कलयुग में निसंतान दंपति नीरू और नीमा ने उनका पालन पोषण किया। https://t.co/jDF9RsHUm6

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर परमेश्वर कबीर साहिब जी चारों युगों में नामांतर करके शिशु रूप में प्रकट होते हैं और एक-एक शिष्य बनाते हैं जिससे कबीर पंथ का प्रचार होता है।
सतयुग - सहते जी
त्रेता - बंके जी
द्वापर - चतुर्भुज जी
कलियुग - धर्मदास जी https://t.co/EIDD0lSOV2

#चारोंयुग_में_आए_कबीरपरमेश्वर परमेश्वर कबीर साहिब जी चारों युगों में नामांतर करके शिशु रूप में प्रकट होते हैं और एक-एक शिष्य बनाते हैं जिससे कबीर पंथ का प्रचार होता है। सतयुग - सहते जी त्रेता - बंके जी द्वापर - चतुर्भुज जी कलियुग - धर्मदास जी https://t.co/EIDD0lSOV2

Next Page