Pushpam Priya Choudhary

President, Plurals @Plurals1313. CM Candidate 2020, Bihar. MPA, London School of Economics and Political Science. MA Dev. Studies, IDS, University of Sussex.

India
Joined on January 27, 2012
Statistics

We looked inside some of the tweets by @pushpampc13 and here's what we found interesting.

Inside 100 Tweets

Time between tweets:
4 hours
Average replies
47
Average retweets
98
Average likes
874
Tweets with photos
84 / 100
Tweets with videos
5 / 100
Tweets with links
0 / 100

ज़िंदा क़ौमें पाँच साल इंतज़ार नहीं करतीं....और बिहार अभी हम में जीवित है! #LetsOpenBihar #EveryoneGoverns https://t.co/ilssF4LLFM

नीम नवादा, जमुई में 500 एकड़ में सब्ज़ियों की शानदार खेती है, 200 उत्साही किसान हैं, लेकिन न ज़मीन पर हक़, न सरकार से सहायता और स्टोरेज-मार्केट लिंकेज नदारद! जमुई 2020-30 बिहार में कैश इकॉनोमी वाली सब्ज़ियों का ग्रीन-कॉरिडोर बने तो बिहार भी बदले! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/BchfyyBiAW
2

नीम नवादा, जमुई में 500 एकड़ में सब्ज़ियों की शानदार खेती है, 200 उत्साही किसान हैं, लेकिन न ज़मीन पर हक़, न सरकार से सहायता और स्टोरेज-मार्केट लिंकेज नदारद! जमुई 2020-30 बिहार में कैश इकॉनोमी वाली सब्ज़ियों का ग्रीन-कॉरिडोर बने तो बिहार भी बदले! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/BchfyyBiAW

सोनो, जमुई में सोना भंडार की खुदाई 1990 से अधूरी हैं! मिथक गढ़ दिया गया कि सब कुछ झारखंड चला गया, और जो रह गया उस पर न नीयत, न विज़न! जमुई में ज़मीन के अंदर और ऊपर अद्भुत सम्पदा है जिसका 2020-30 में सदुपयोग वहाँ के लोगों के असली विकास में करना है। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/OPtSMK9eC7
3

सोनो, जमुई में सोना भंडार की खुदाई 1990 से अधूरी हैं! मिथक गढ़ दिया गया कि सब कुछ झारखंड चला गया, और जो रह गया उस पर न नीयत, न विज़न! जमुई में ज़मीन के अंदर और ऊपर अद्भुत सम्पदा है जिसका 2020-30 में सदुपयोग वहाँ के लोगों के असली विकास में करना है। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/OPtSMK9eC7

बिहारशरीफ के राज (जन्म: 2000) जैसी नई पीढ़ी पुराने विचारों, पुरानी राजनीति के विपरीत बदलाव चाहती है। पॉलिटिकल साइंस पढ़ रहे राज जैसे करोड़ों युवा पहली वोटिंग फ़्रीडम के साथ नालंदा जैसे गढ़ और बिहार की खुर्रांट राजनीति उखाड़ फेंकने को तैयार हैं। #FirstInFreedom #LetsOpenBihar https://t.co/AsaIuolTa0

बिहारशरीफ के राज (जन्म: 2000) जैसी नई पीढ़ी पुराने विचारों, पुरानी राजनीति के विपरीत बदलाव चाहती है। पॉलिटिकल साइंस पढ़ रहे राज जैसे करोड़ों युवा पहली वोटिंग फ़्रीडम के साथ नालंदा जैसे गढ़ और बिहार की खुर्रांट राजनीति उखाड़ फेंकने को तैयार हैं। #FirstInFreedom #LetsOpenBihar https://t.co/AsaIuolTa0

झिरबा, बाँका की मशरूम वूमेन विनीता जी ग्रासरूट चैम्पियन हैं। प्रशिक्षण लेकर मशरूम सीड्स लैब बनाया, महिलाओं को प्रोत्साहित किया, और गाँव को आत्मनिर्भर बनाया। विनीता जी शालीन हैं और ग़ज़ब प्रोफेशनल हैं। वे हैं तो 2020-30 की मशरूम क्रांति कहाँ दूर है! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/GKBIuupMZQ
4

झिरबा, बाँका की मशरूम वूमेन विनीता जी ग्रासरूट चैम्पियन हैं। प्रशिक्षण लेकर मशरूम सीड्स लैब बनाया, महिलाओं को प्रोत्साहित किया, और गाँव को आत्मनिर्भर बनाया। विनीता जी शालीन हैं और ग़ज़ब प्रोफेशनल हैं। वे हैं तो 2020-30 की मशरूम क्रांति कहाँ दूर है! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/GKBIuupMZQ

बाँका की शुरू ही न हुई सिरामिक फ़ैक्ट्री बिहारी पॉलिसी-मेकर्स की कमअक्ल इंडस्ट्रियल इकॉनॉमिक नॉलेज की मिसाल है। 32 एकड़ ज़मीन, रूसी मशीनें, समुखिया चूना-अबरख खदान और 10,000 रोज़गार 1984 से मृत है। 2020-30 बाँका-बिहार पुनर्निर्माण का अंतिम अवसर है। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/eL52WKTYg6
4

बाँका की शुरू ही न हुई सिरामिक फ़ैक्ट्री बिहारी पॉलिसी-मेकर्स की कमअक्ल इंडस्ट्रियल इकॉनॉमिक नॉलेज की मिसाल है। 32 एकड़ ज़मीन, रूसी मशीनें, समुखिया चूना-अबरख खदान और 10,000 रोज़गार 1984 से मृत है। 2020-30 बाँका-बिहार पुनर्निर्माण का अंतिम अवसर है। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/eL52WKTYg6

मनिया, बाँका गाँव मछली बनाता है, चाँदी की! चाँदी मछली आभूषण की यह स्मॉल इंडस्ट्री महाजनी शोषण और मार्केट की अनुपलब्धता का शिकार है। जयप्रकाश यादव, पिंकू कुमार जैसे कारीगरों के हाथ जादू है, और अब उसके सम्मान और इकॉनॉमिक्स का समय आ गया है! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/rOW3Dstjin
4

मनिया, बाँका गाँव मछली बनाता है, चाँदी की! चाँदी मछली आभूषण की यह स्मॉल इंडस्ट्री महाजनी शोषण और मार्केट की अनुपलब्धता का शिकार है। जयप्रकाश यादव, पिंकू कुमार जैसे कारीगरों के हाथ जादू है, और अब उसके सम्मान और इकॉनॉमिक्स का समय आ गया है! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/rOW3Dstjin

बाँका के खूबसूरत बुटुडीह की सुमिता देवी जी का तसर रेशम का लघु उद्योग है। ककून की 1500 गोटी से 1.5 किलो सिल्क धागे, मामूली कमाई! कोई सपोर्ट नहीं, फिर भी वे हंसती हैं, खूब! सिल्क जैसी हंसी, सिल्क सा स्वभाव! सिल्क इंडस्ट्री देने की ज़िम्मेदारी मेरी! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/PHloOkSQC1
4

बाँका के खूबसूरत बुटुडीह की सुमिता देवी जी का तसर रेशम का लघु उद्योग है। ककून की 1500 गोटी से 1.5 किलो सिल्क धागे, मामूली कमाई! कोई सपोर्ट नहीं, फिर भी वे हंसती हैं, खूब! सिल्क जैसी हंसी, सिल्क सा स्वभाव! सिल्क इंडस्ट्री देने की ज़िम्मेदारी मेरी! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/PHloOkSQC1

सुषमा जी की क्या जिजीविषा! गाड़ी रोककर बेटी की तरह घर ले गईं और छोटी-सी पोती संध्या से पूछो तो तपाक से बोलती है - “डॉक्टर बनूँगी!” क्या सीधे, सकारात्मक, ऊर्जावान लोग! राजनीति के छल-प्रपंच से दूर, लेकिन उसके शिकार! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/Vve6kci5Uy
2

सुषमा जी की क्या जिजीविषा! गाड़ी रोककर बेटी की तरह घर ले गईं और छोटी-सी पोती संध्या से पूछो तो तपाक से बोलती है - “डॉक्टर बनूँगी!” क्या सीधे, सकारात्मक, ऊर्जावान लोग! राजनीति के छल-प्रपंच से दूर, लेकिन उसके शिकार! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/Vve6kci5Uy

“कौन आता है यहाँ? इतने दूर तक हमारे गाँव आये तो ऐसे कैसे जाने देंगे, ताली बजाएँगे सब”। बाँका के तेतरिया गाँव में सुषमा हेम्ब्रम जी के नेतृत्व में तसर रेशम कीट पालन करती संथाली महिलाएँ। 16900 पौधों पर कीट पालन, पेड़ों में कीड़े लगने की समस्या, कीटनाशक इत्यादि मिलते नहीं। https://t.co/pMi4O04eJc
2

“कौन आता है यहाँ? इतने दूर तक हमारे गाँव आये तो ऐसे कैसे जाने देंगे, ताली बजाएँगे सब”। बाँका के तेतरिया गाँव में सुषमा हेम्ब्रम जी के नेतृत्व में तसर रेशम कीट पालन करती संथाली महिलाएँ। 16900 पौधों पर कीट पालन, पेड़ों में कीड़े लगने की समस्या, कीटनाशक इत्यादि मिलते नहीं। https://t.co/pMi4O04eJc

बाँका ज़िले में प्लुरल्स के पार्टी कार्यालय का आरंभ  प्लुरल्स के 78 वर्षीय वरीय सदस्य श्री अनिरुद्ध मंडल जी द्वारा। नैतिकता, सिद्धांत, ऊर्जा और विजन सब एक छत के नीचे और लक्ष्य बेहतर बिहार! #सबकाशासन #LetsOpenBihar https://t.co/9cgaEOXy4N
3

बाँका ज़िले में प्लुरल्स के पार्टी कार्यालय का आरंभ प्लुरल्स के 78 वर्षीय वरीय सदस्य श्री अनिरुद्ध मंडल जी द्वारा। नैतिकता, सिद्धांत, ऊर्जा और विजन सब एक छत के नीचे और लक्ष्य बेहतर बिहार! #सबकाशासन #LetsOpenBihar https://t.co/9cgaEOXy4N

चुनाव का बिगुल नहीं, भोंपा! प्लुरल्स प्रचार गाड़ी हर ज़िले गाँव-गाँव घूमने के लिये तैयार! शुरुआत बिहार के सुदूर दक्षिण-पूर्व बाँका से! कार्यकर्ताओं ने कहा कि मैडम स्पीकर लगवाते हैं, मैंने कहा लाउडस्पीकर लगवाइये, बदलाव की आवाज़ दूर तलक जानी चाहिये! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/1tsKFELwQb
3

चुनाव का बिगुल नहीं, भोंपा! प्लुरल्स प्रचार गाड़ी हर ज़िले गाँव-गाँव घूमने के लिये तैयार! शुरुआत बिहार के सुदूर दक्षिण-पूर्व बाँका से! कार्यकर्ताओं ने कहा कि मैडम स्पीकर लगवाते हैं, मैंने कहा लाउडस्पीकर लगवाइये, बदलाव की आवाज़ दूर तलक जानी चाहिये! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/1tsKFELwQb

कुर्किहार में कांसे-पीतल के बुद्ध ज़मीन में दबे पड़े हैं और बग़ल में केनारचट्टी, गया की काँसा-पीतल की कारीगरी दफ़न हो रही। लेकिन समय-चक्र घूमा है, अब बुद्ध भी मुस्कुराएँ और सोने जैसे कारीगर भी! आपकी दी प्लेट के साथ वापस आती हूँ, बहुत जल्द! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/whgUqQb8AT

सुदूर दक्षिण-पूर्व का बाँका बिहार! #LetsOpenBihar

नवादा के छोटे शहर के छोटे घर में एक 19 साल के महामानव डॉ. अभिषेक राज मेडिकल स्टूडेंट हैं, सबसे युवा ऑर्गेन डोनर, सोशल वर्कर और साओ पाउलो यूनिवर्सिटी से मानद डॉक्टरेट! लंदन लैंडस्केप उकेरे इस कमरे में बिहारी टैलेंट और आदर्शवाद सिर चढ़ कर बोलता है! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/J5A6U10wRC

नवादा के छोटे शहर के छोटे घर में एक 19 साल के महामानव डॉ. अभिषेक राज मेडिकल स्टूडेंट हैं, सबसे युवा ऑर्गेन डोनर, सोशल वर्कर और साओ पाउलो यूनिवर्सिटी से मानद डॉक्टरेट! लंदन लैंडस्केप उकेरे इस कमरे में बिहारी टैलेंट और आदर्शवाद सिर चढ़ कर बोलता है! #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/J5A6U10wRC

कैमूर में तेल्हाड तो नवादा में ककोलत! जहां रेगिस्तान हैं वे भी ‘कुछ दिन बिता लेने’ के न्योते से इकॉनॉमी चमका रहे। और यहाँ नवादा में प्रकृति के वरदान पर नक़ली नेताओं का ‘स्पेशल स्टेटस’ का विलाप है और बाहर आलू-बालू की छवि! अब बिहार मुक्त न हो तो कब? #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/HoqQLKEfvd
4

कैमूर में तेल्हाड तो नवादा में ककोलत! जहां रेगिस्तान हैं वे भी ‘कुछ दिन बिता लेने’ के न्योते से इकॉनॉमी चमका रहे। और यहाँ नवादा में प्रकृति के वरदान पर नक़ली नेताओं का ‘स्पेशल स्टेटस’ का विलाप है और बाहर आलू-बालू की छवि! अब बिहार मुक्त न हो तो कब? #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/HoqQLKEfvd

कादिरगंज, नवादा में तसर साड़ियों का काम अब पूँजी और तकनीकी कमी से कराह रहा है। बिहार के हर ज़िले में इंडस्ट्रियस लोग, स्मॉल इंडस्ट्री हैं, उन्हें सपोर्ट चाहिये ताकि नवादा जैसे जगह 2020-30 में प्रोडक्शन, इनोवेशन और इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेशन बन सकें। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/79tOb0rG3D
4

कादिरगंज, नवादा में तसर साड़ियों का काम अब पूँजी और तकनीकी कमी से कराह रहा है। बिहार के हर ज़िले में इंडस्ट्रियस लोग, स्मॉल इंडस्ट्री हैं, उन्हें सपोर्ट चाहिये ताकि नवादा जैसे जगह 2020-30 में प्रोडक्शन, इनोवेशन और इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेशन बन सकें। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/79tOb0rG3D

नालंदा वि.वि. के गाँवों तक फैले विस्तार की खुदाई कभी नहीं हुई। आज भी गाँवों में मूर्तियाँ और दीवारों के अवशेष दबे हैं। हाल में मिला शिवलिंग मंदिर में रखा है, और मूर्ति थाने में! ज़मीन में दबे गौरव को ही खोद दें तो नालंदा का वर्तमान समृद्ध हो जाय। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/VUWJ1Btq7c

नालंदा वि.वि. के गाँवों तक फैले विस्तार की खुदाई कभी नहीं हुई। आज भी गाँवों में मूर्तियाँ और दीवारों के अवशेष दबे हैं। हाल में मिला शिवलिंग मंदिर में रखा है, और मूर्ति थाने में! ज़मीन में दबे गौरव को ही खोद दें तो नालंदा का वर्तमान समृद्ध हो जाय। #LetsOpenBihar #30YearsLockdown https://t.co/VUWJ1Btq7c

पिछले हफ़्ते भभुआ में शालिनी (जन्म: 1999) मिलने आईं। सीधे-सहज परिवार की मेहनती यंग लेडी Zoology ग्रेजुएशन के बाद पी.एच.डी. कर प्रोफ़ेसर बनेंगी। इस साल वोटिंग फ़्रीडम पाने वाली शालिनी बिहार में क्वालिटी एजुकेशन और मनचाहे जॉब के लिये सरकार चुनेंगी। #FirstInFreedom #LetsOpenBihar https://t.co/WZtiQX0USV

पिछले हफ़्ते भभुआ में शालिनी (जन्म: 1999) मिलने आईं। सीधे-सहज परिवार की मेहनती यंग लेडी Zoology ग्रेजुएशन के बाद पी.एच.डी. कर प्रोफ़ेसर बनेंगी। इस साल वोटिंग फ़्रीडम पाने वाली शालिनी बिहार में क्वालिटी एजुकेशन और मनचाहे जॉब के लिये सरकार चुनेंगी। #FirstInFreedom #LetsOpenBihar https://t.co/WZtiQX0USV

Next Page