Sushil Kumar Modi

Sushil Kumar Modi

@SushilModi

Followers2.2M
Following69

Official Twitter account of Sushil Kumar Modi.

Patna, Bihar, India
Joined on May 08, 2011
Statistics

We looked inside some of the tweets by @SushilModi and here's what we found interesting.

Inside 100 Tweets

Time between tweets:
2 hours
Average replies
74
Average retweets
58
Average likes
478
Tweets with photos
20 / 100
Tweets with videos
5 / 100
Tweets with links
0 / 100

Rankings (sorted by number of followers)

49. in country India and category Politics

60. in country India and category Society

201. in category Politics

278. in category Society

330. in country India

रेप के आरोपित राजबल्लभ से अकेले में क्यों मिले थे लालू.... https://t.co/NjNhBDC9hv
4

रेप के आरोपित राजबल्लभ से अकेले में क्यों मिले थे लालू.... https://t.co/NjNhBDC9hv

उन्हें बलात्कार के मामले में गिरफ्तारी से कौन बचा रहा है? हाथरस की घटना से भाजपा या योगी सरकार का कोई संबंध नहीं, जबकि बिहार में बलात्कार की दो घटनाओं में राजद विधायक दोषी या अभियुक्त हैं। यूपी में जंगलराज नहीं, योगी राज है।

तो बताये कि उसने नवादा की छात्रा से बलात्कार के मामले में दोषी तत्कालीन विधायक राजबल्लभ यादव को बचाने की कोशिश क्यों की थी?अभियुक्त राजबल्लभ से लालू प्रसाद ने अकेले में क्या बात की थी? राजद के जिस विधायक अरुण यादव ने कालाधन छिपाने के लिए एक दिन में राबड़ी देवी के 8 फ्लैट खरीदे,

हाथरस की एक बेटी के साथ गैंगरेप और पीड़िता की मृत्यु की दुखद घटना के बाद यूपी सरकार ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया, पीड़ित परिवार को तुरंत 5 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी और सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला भी दर्ज किया। राजद यदि इस पर राजनीति करना चाहता है,

राम मंदिर निर्माण के लिए जब भूमिपूजन हो चुका है, तब मंदिर आंदोलन के शीर्ष नेताओं का आरोपमुक्त होना करोड़ों रामभक्तों को संतोष देने वाला है।

न्यायालय ने हमारे इस कथन को सही माना कि घटना सुनियोजित नहीं, बल्कि स्वत:स्फूर्त और आवेशित कारसेवकों की भीड़ के एक वर्ग के गुस्से का परिणाम थी।

सीबीआई की विशेष अदालत ने अयोध्या का विवादास्पद ढांचा गिराने की घटना में श्री लाल कृष्ण आडवाणी सहित सभी 32 आरोपियों को बरी करने का जो फैसला सुनाया, वह सत्य की विजय है। हम इसका स्वागत करते हैं।

जो लोग इस फैसले पर सवाल उठा रहे हैं, उन्हें न न्यायपालिका पर भरोसा है, न वे वोट बैंक की राजनीति को छोड़ना चाहते हैं।

ऐतिहासिक राम मंदिर आंदोलन के सहभागी और 6 दिसम्बर की घटना का प्रत्यक्षदर्शी होने के नाते मैं कह सकता हूँ कि उस समय भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने कारसेवकों को संयम बरतने की कितनी मार्मिक अपीलें लगातार कीं, लेकिन भीड़ अनियंत्रित रही।

PRESS RELEASE
==============
बाबरी विघ्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट के फैसले का उपमुख्यमंत्री ने किया स्वागत

* कहा, इस मामले का मैं चश्मदीद गवाह रहा हूं, 
          कोई पूर्व सुनियोचित षडयंत्र नहीं था https://t.co/DNcEh9aySc

PRESS RELEASE ============== बाबरी विघ्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट के फैसले का उपमुख्यमंत्री ने किया स्वागत * कहा, इस मामले का मैं चश्मदीद गवाह रहा हूं, कोई पूर्व सुनियोचित षडयंत्र नहीं था https://t.co/DNcEh9aySc

जय श्री राम ।६ डिसेम्बर की घटना का प्रत्यक्षदर्शी हूँ मैं।आडवाणीजी को मिला न्याय। https://t.co/fjAPxdC09a

I was witness to the entire incident of 6th Dec. It was all spontaneous no conspiracy.I was conducting the meeting from dais I was surprised when some Kar Sewaks climbed Babri str.Advaniji was unhappy.सत्यमेव जयते ।#BabriDemolitionCase

जय श्री राम ।Advaniji सहित सभी अभियुक्त दोष मुक्त।बाबरी ढाँचा गिराने में कोई पूर्व नियोजित षड्यंत्र नहीं था।#BabriVerdict

बिहार में कभी कामयाब नहीं होगा लाल और टेन का किलर काकटेल... https://t.co/5QSxf053Qf

बिहार में कभी कामयाब नहीं होगा लाल और टेन का किलर काकटेल... https://t.co/5QSxf053Qf

लालू प्रसाद बिहार को 50 साल पीछे ले जाने पर आमादा... https://t.co/VvjiEnQeA5
4

लालू प्रसाद बिहार को 50 साल पीछे ले जाने पर आमादा... https://t.co/VvjiEnQeA5

प्रधानमंत्री ने रेलवे, बिजली और पुल निर्माण के लिए जिन बड़ी योजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया, उससे बिहार में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। राजद ने जिन दस सुधारों की बात की है,उसमें हर क्षेत्र के लिए केवल चुनावी नारे गढ़े गए हैं, विकास का कोई रोडमैप नहीं। विकास तुकबंदी से नहीं होता।

एनडीए सरकार ने 10 करोड़ से ज्यादा किसानों के खाते में 1 लाख करोड़ रुपये डाले, कृषि उपज के समर्थन मूल्य में लगातार वृद्धि की और कृषि बिल पारित कर किसानों को कहीं भी उत्पाद बेचने की आजादी दी।

वे लालटेन और लाल सलाम के सहारे बिहार को आगे नहीं, 50 साल पीछे ले जाने पर आमादा हैं। हिंसा के लाल रंग के साथ विकास की कल्पना भी नहीं की जा सकती। बिहार की जनता लाल और टेन के किलर काकटेल को कभी कामयाब नहीं होने देगी।

लालू प्रसाद की पार्टी के रवैये से मोहभंग के बाद जब सहयोगी दल उनका साथ छोड़ रहे हैं और कांग्रेस भी गठबंधन में सहज नहीं है, तब राजद को केवल लाल सलाम और हिंसा में विश्वास रखने वाले चीन समर्थक वामपंथी दलों का सहारा रह गया है।

प्रधानमंत्री ने रेलवे, बिजली और पुल निर्माण के लिए जिन बड़ी योजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया, उससे बिहार में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। राजद के जिन दस सुधारों की बात है, उसमें हर क्षेत्र के लिए केवल चुनावी नारे गढ़े गए हैं, विकास का कोई रोडमैप नहीं। विकास तुकबंदी से नहीं होता।

Next Page